जम्मू और कश्मीर में डेयरी खेती विभिन्न सरकारी योजनाओं की मदद से फल-फूल रही है।

जम्मू और कश्मीर में डेयरी खेती विभिन्न सरकारी योजनाओं की मदद से फल-फूल रही है।

2430

जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में डेयरी फार्मिंग क्षेत्र युवाओं के बीच एक लाभदायक उद्यम प्रतीत होता है। अधिक से अधिक स्टार्ट-अप और डेयरी इकाइयां सरकार द्वारा प्रायोजित पहलों और प्रोत्साहनों का लाभ उठा रही हैं।

KhetiGaadi always provides right tractor information

बांदीपोरा के उपायुक्त डॉ. ओवैस अहमद ने कहा कि जिले की एकीकृत डेयरी विकास योजना में 37 प्राप्तकर्ता हैं, और प्रशासन शिक्षित युवाओं को पहल का लाभ उठाने और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने में मदद करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।

उन्होंने यह भी कहा कि जिले की वर्तमान उत्पादन क्षमता 2,800 लीटर प्रति दिन है, जो एक मजबूत राशि है जिसके और बढ़ने की संभावना है। 

Khetigaadi

बांदीपोरा में अपनी अनुकूल जलवायु और मिट्टी के कारण पशुपालन क्षेत्र, विशेष रूप से डेयरी फार्मिंग के लिए बहुत सारे वादे हैं और यह बहुत से लोगों को डेयरी फार्मिंग के लिए प्रेरित कर रहा है।

ताहिर के डेयरी फार्म की सफलता की कहानी:

इतनी सारी संभावनाओं के साथ, बड़ी संख्या में युवा उद्योग में प्रवेश कर रहे हैं।

बांदीपोरा के मदार इलाके के ताहिर अहमद राथर ने 2020 में जिले के पशुपालन विभाग की मदद से डेयरी फार्म शुरू किया था। युवक के पास अब 8 गायें हैं जो प्रतिदिन 90 से 95 लीटर दूध का उत्पादन करती हैं।

ताहिर के पिता, बशीर अहमद राथर, उनके साथ खेत चलाते हैं, और वे दोनों जिले की दूध की जरूरतों को पूरा करते हुए बांदीपोरा के आसपास दूध वितरित करते हैं।

ताहिर के मुताबिक, उन्होंने इस डेयरी फार्म की शुरुआत 2020 में की थी और इससे उन्हें जीविकोपार्जन में मदद मिली है। वह बांदीपोरा के पशुपालन विभाग के आभारी हैं कि उन्होंने सुविधा स्थापित करने में उनकी सहायता की।

ताहिर ने अपने खेत में आधुनिक तकनीकों को लागू किया है, जैसे कि स्वचालित गाय दूध देने वाली मशीनें, जो उत्पादकता बढ़ाने के साथ-साथ उनका समय भी बचाती हैं।

ताहिर के डेयरी फार्म से जुड़ने से जिले के कई अन्य युवा लाभान्वित होते हैं। सरकारी योजनाओं, विशेष रूप से एकीकृत डेयरी विकास योजना ने ताहिर अहमद राथर की सफलता में महत्वपूर्ण प्रभाव डाला है। 

बांदीपोरा में योजना के कई अन्य प्राप्तकर्ता हैं, जिनमें ताहिर भी शामिल हैं, जिन्होंने अपने स्वयं के डेयरी फार्म शुरू किए हैं।

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply