हवाई माध्यम से किसानों को कारोबार में मिलेगी मदद।

हवाई माध्यम से किसानों को कारोबार में मिलेगी मदद।

486

केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लाभ के लिए तथा उनकी आय में वृद्धि के लिए सरकार की अनेक योजनाएँ चल रही हैं। सरकार द्वारा चालू की गयी प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना २०२१ में किसानों के लिए बेहतर साबित होने जा रही है।

कृषि उड़ान योजना से किसानों को अपने कारोबार को एक देश से दूसरे देश या एक राज्य से दूसरे राज्य में बढ़ावा मिलेगा। इसमें किसान विभिन्न उत्पाद का आदान प्रदान कर सकते हैं। इनमें शामिल हैं: डेयरी उत्पाद जैसे दूध तथा मांस जैसे उत्पाद को जल्द जल्द से उनके बाजार तक पहुंचा सकते हैं।

इस योजना के माध्यम से किसान आसानी से लाभ उठा सकते हैं।

प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना के बारे में जानकारी

पिछले साल के बजट पेश २०२०-२१ में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना की घोषणा की थी जो २०२१ में योजना शुरू की जा चुकी हैं। सरकार ने इस योजना की शुरुवात इस मकसद से की है कि किसानों को अपने उत्पाद या फसल एक जगह से दूसरे जगह पर पहुंचाने में कोई दिक्कत ना आये।

किसानों को किन परेशानियों का सामना करना पड़ता था ?

यदि किसान एक जगह से दूसरी जगह अपनी फसल या उतपद को ले जाते थे तो उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। बाज़ार पहुंचते तक फसल का ख़राब हो जाना, उत्पाद की मात्रा कम हो जाना आदि दिक्कतों का सामना करन पड़ता था।

इस योजना से किसानों को आर्थिक लाभ में मदद मिलेगी साथ ही बाजार में उत्पाद की बढ़ोत्तरी हुई हैं। योजना को शुरू करने के विभिन्न इंटरनेशनल रुट, नेशनल रुट और नागरिक उड्डन मंत्रालय द्वारा सहयोग दिया जाता हैं। जिससे किसानों को सही परिवहन में सहायता मिल रही है।

किन उत्पादों के अदान प्रदान से मिलेगा लाभ

कृषि उड़ान योजना २०२१ की मदद से किसानों को कुछ उत्पादों में लाभ ज्यादा मिलेगा जैसे डेरी उत्पाद, मछली के उत्पाद,मांस जैसे उत्पाद को जल्द से जल्द बाज़ार में पहुँचाया जा सकता है जो समय पे लोगों तक पहुँच सकें।

योजना का लाभ कैसे उठाएं:

किसानों को इस योजना का लाभ उठाने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना ज़रूरी है। योजना का लाभ इस योजना से लाभ उठा सकते है। इसके अलावा इस योजना के तहत सरकार द्वारा एयरलाइनों को भी प्रोत्साहन मिलेगा। देश में स्थापित अनेक हवाई अड्डों को कृषि उत्पादों के परिवहन के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

उड़ानें पर योजना के तहत कम से कम आधी सीटें सब्सिडी वाले किराए पर दी जाएगी।

लाभ उठाने के लिए दस्तावेज और पात्रता

  • भारत का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  • सिर्फ किसान ही इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • आधार कार्ड का होना ज़रूरी है, आवेदन करते समय।
  • खेती संबंधित दस्तावेज दिखने होंगे।
  • निवास प्रमाण पत्र का होना अनिवार्य है।
  • आय प्रमाण पत्र भी आवेदक को दिखाना ज़रूरी है।
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड

आवेदन की प्रक्रिया

सबसे पहले किसानों को ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा। एक नए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। फिर सारी जानकारी भरनी होगी।

उसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करें और रजिस्ट्रेशन को पूरा करें। रजिस्ट्रेशन को पूरा करने पर वेरफिकेशन के लिए एक ओटीपी आएगा। जिसके बाद आप अपना आईडी और पासवर्ड बना पाएंगे जो बाद में लॉग इन करने में मदद करेगा।

agri news

Leave a Reply