JSW सीमेंट ने कृषि अपशिष्ट को बायोमास के रूप में उपयोग करने के लिए पंजाब अक्षय ऊर्जा प्रणालियों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

JSW सीमेंट ने कृषि अपशिष्ट को बायोमास के रूप में उपयोग करने के लिए पंजाब अक्षय ऊर्जा प्रणालियों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

2071

JSW सीमेंट, US $ १३ बिलियन JSW ग्रुप का हिस्सा है , पंजाब रिन्यूएबल एनर्जी सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये है।  लिमिटेड (पीआरएसपीएल ) अपने सीमेंट विनिर्माण कार्यो में कृषि अपशिष्ट को बायोमास ऊर्जा के रूप में उपयोग करने के लिए।

KhetiGaadi always provides right tractor information

सीमेंट , १३ बिलियन ग्रुप का हिस्सा है , पंजाब रिन्यूएबल एनर्जी सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये है।  लिमिटेड (पीआरएसपीएल ) अपने सीमेंट विनिर्माण कार्यो में कृषि अपशिष्ट को बायोमास ऊर्जा के रूप में उपयोग करने के लिए।

सर्कुलर इकॉनमी सिद्धांत हमारे व्यापक मॉडल का एक अभिन्न अंग है। जेएसडब्ल्यू सीमेंट के प्रबंध निदेशक पार्थ जिंदल ने कहा, पिछले साल हमने एक छोटी सी शुरुआत की थी जिसमे हमारी लगभग ५ फीसदी ईंधन की जरुरत वैकल्पित ईंधन से पूरी की जाती थी। एमओयू के अनुसार, पंजाब रिन्यूएबल एनर्जी सिस्टम्स कृषि अपशिस्ट  की एक स्थायी आपूर्ति श्रृंखला का निर्माण करेगी, जिसका उपयोग जेएसडब्ल्यू सीमेंट की विनिर्माण इकाईयो में बायोमास ऊर्जा के रूप में किया जाएगा।

Khetigaadi

कंपनी ११ वर्षो में (वित्त वर्ष २०१५ से वित्त वर्ष २६ तक) कार्बन उत्सर्जन की तीव्रता को लगभग आधा करने की योजना बना रही है।  ईंधन के रूप में बायोमास का उपयोग इस डिसॉर्बोनिजातिओं योजना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

बायोमास आधारित ईंधन मॉडल जेएसडब्ल्यू सीमेंट को स्थिरता के तीन प्रमुख पहलुओं यानी पर्यावरण ,सामाजिक , और आर्थिक को सम्बोधित करने में मदद करेगा। कृषि-कचरे को आमतौर पर खुले मैदानों में जलाया जाता है, जो आसपास की वायु गुणवत्ता को प्रभावित करता है।

जेएसडब्ल्यू सीमेंट कोयले पर अपनी व्यावसायिक निर्भरता को काम करने और कार्बन उत्सर्जन में कटौती करने में मदद करने के लिए कृषि -अपशिस्ट का उपयोग ईंधन के रूप में करेगी।  यह ईंधन मॉडल किसानो को अतिरिक्त आय उत्पन्न करने में मदद करते हुए स्थानीय पर्यावरण की परिवेशी  वायु गुणवत्ता में भी सुधार करेगा। 

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply