छत्तीसगढ़ के किसानों को मिलेगी 10,000 रुपये की सब्सिडी

छत्तीसगढ़ के किसानों को मिलेगी 10,000 रुपये की सब्सिडी

1270

सूत्रों के अनुसार एक अधिकारीक बयान में कहा गया है की छत्तीसगढ़ में किसानों को खरीफ सीजन 2021-22 से धान के अलावा सरकार द्वारा पहचानी गई कुछ फसलों की खेती के लिए 10,000 रुपये प्रति एकड़ की इनपुट सब्सिडी मिलेगी।

KhetiGaadi always provides right tractor information

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में बैठक के दौरान छत्तीसगढ़ में धान के अलावा अन्य फसलों की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए यह निर्णय लिया गया। जिसे राज्य में चावल की व्यापक खेती के कारण मध्य भारत का ‘चावल का कटोरा’ कहा जाता है। इस बैठक में राज्य के कृषि मंत्री रवींद्र चौबे समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के दायरे का विस्तार करने और अगले सीजन से सभी प्रमुख खरीफ फसलों जैसे मक्का, सोयाबीन, गन्ना, कोदो-कुटकी, दालों के साथ धान को इसके तहत शामिल करने का फैसला किया।

और उन्होंने कहा कि योजना के तहत किसानों को खरीफ सीजन 2020-21 में धान की खेती के लिए और अगले सीजन से धान सहित सभी प्रमुख खरीफ फसलों पर 10,000 रुपये प्रति एकड़ की इनपुट सब्सिडी प्रदान की जाएगी। खरीफ सीजन 2019-20 में राज्य सरकार ने किसानों को धान की खेती के लिए प्रति एकड़ 9,000 रुपये की इनपुट सहायता प्रदान की।

उनोन्हे कहा की “2020-21 में धान बोने वाले किसान यदि कोदो-कुटकी, गन्ना, मक्का, सोयाबीन, दलहन, तिलहन, सुगंधित धान, धान की अन्य गढ़वाली किस्मों की खेती करते हैं या उसी भूमि में धान के स्थान पर वृक्षारोपण करते हैं , तो उन्हें 9,000 रुपये प्रति एकड़ के बजाय 10,000 रुपये प्रति एकड़ इनपुट सब्सिडी के रूप में प्रदान किया जाएगा”।

उन्होंने कहा कि जो किसान खेतों में पेड़ लगाएंगे, उन्हें अगले तीन साल तक प्रति वर्ष 10,000 रुपये की इनपुट सब्सिडी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सब्सिडी की राशि सीधे लाभार्थियों के खातों में ट्रांसफर की जाएगी।

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply