इस साल गेहूं, चावल की फसल पर है किसानों  की उम्मीद

इस साल गेहूं, चावल की फसल पर है किसानों की उम्मीद

120

भारत में इस साल रिकॉर्ड १०८.७५ मिलियन टन गेहूं का उत्पादन होने की उम्मीद है, कृषि मंत्रालय ने फसल वर्ष जून २०२१ के लिए अपने तीसरे पूर्वानुमान में कहा, जो पिछले अनुमान १०९.२४ मिलियन टन से थोड़ा कम है।

फरवरी में १२०.३२ मिलियन टन के पूर्वानुमान की तुलना में दुनिया के सबसे बड़े निर्यातक और दूसरे सबसे बड़े उत्पादक में चावल का उत्पादन रिकॉर्ड १२१.४६ मिलियन टन होने का अनुमान है।

कृषि मंत्रालय का अनुमान है कि इस साल कुल अनाज उत्पादन रिकॉर्ड ३०५.४४ मिलियन टन होगा, जो इसके पिछले अनुमान २९७.५ मिलियन टन से अधिक है।

JK Tyre AD

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि, “भारत के किसानों, वैज्ञानिकों और सरकार के प्रयासों ने रंग लाया है।”

सरकार ने फरवरी में अपने तिलहन उत्पादन अनुमान को ३७.३१ मिलियन टन से घटाकर ३६.५७ मिलियन टन कर दिया था।

कृषि मंत्रालय ने कहा कि इस साल रेपइसीड का उत्पादन ९.९९ मिलियन टन होने का अनुमान है, जो पिछले १०.४३ मिलियन टन के अनुमान से कम है। इसी तरह, सोयाबीन का उत्पादन १३.४१ मिलियन टन रहने का अनुमान है, जो फरवरी में अनुमानित १३.७१ मिलियन टन से कम है।

इसी तरह २०२०-२१ में मूंगफली का उत्पादन १०.१२ मिलियन टन होने का अनुमान लगाया है, जो इसके पहले के १०.१५ मिलियन टन के अनुमान से कम है।

इस साल दलहन का उत्पादन २५.५६ मिलियन टन होने की संभावना है, जो पहले २४.४२ मिलियन टन अनुमानित था।

agri news

Leave a Reply