भारत का कृषि निर्यात बढ़ रहा है: आर्थिक सर्वेक्षण

भारत का कृषि निर्यात बढ़ रहा है: आर्थिक सर्वेक्षण

486

भारत के आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया है की वर्ष २०१९ -२० में कृषि उत्पादनों का समुद्री निर्यात,चावल ,मसाले और चीनी का निर्यात बढ़ रहा है ।

आर्थिक सर्वेक्षण द्वारा कहा गया की 1991 में आर्थिक सुधार शुरू होने के बाद से भारत कृषि उत्पादों का शुद्ध निर्यातक रहा है। सर्वेक्षण में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2019-20 में कृषि-निर्यात 2.52 लाख करोड़ रुपये और आयात 1.47 लाख करोड़ रुपये है।

सर्वेक्षण में कहा गया है कि कुल कृषि निर्यात मूल्य में समुद्री उत्पादों की हिस्सेदारी इस अवधि में सबसे बड़ी रही है। “कुल कृषि निर्यात मूल्य में इसकी हिस्सेदारी 2015-16 में 14.5 प्रतिशत से बढ़कर 2019-20 में 19 प्रतिशत के करीब थी”।

कुल कृषि निर्यात मूल्य में बासमती चावल, गैर-बासमती चावल, मसाले और चीनी की हिस्सेदारी ने भी इस दौरान वृद्धि को दिखाया है। हालांकि, कृषि निर्यात मूल्य में भैंस के मांस और कच्चे कपास की अवधि में गिरावट आई है। सर्वेक्षण में कहा गया है कि अरंडी तेल और चाय जैसे जिंसों के शेयर इस दौरान स्थिर बने हुए हैं।

वैश्विक व्यापार में भारत के कृषि उत्पादों एक अग्रणी स्थान है। इसका कुल कृषि निर्यात विश्व कृषि व्यापार के 2.5 प्रतिशत से थोड़ा अधिक है। संयुक्त राज्य अमेरिका, सऊदी अरब, ईरान, नेपाल और बांग्लादेश प्रमुखता निर्यात किए जाते है।

भारत से निर्यात की जाने वाली प्रमुख कृषि वस्तुओं में समुद्री उत्पाद, बासमती चावल, भैंस का मांस, मसाले, गैर-बासमती चावल, कपास कच्चे, चीनी, अरंडी का तेल और चाय है।

agri news

Leave a Reply