कोटा किसान द्वारा विकसित सदाबहार आम हुआ लोगों में प्रसिद्ध

कोटा किसान द्वारा विकसित सदाबहार आम हुआ लोगों में प्रसिद्ध

569

फलों का राजा आम है, जो अनेखो क़िस्मों में आता है। लोगों में हमेशा मीठा स्वाद वाला आम लंगड़ा आम स्वाद में प्रसिद्ध रहा है लेकिन, अब बाज़ार में नए किस्म का आम लोगोँ द्वारा पसंद किया जा रहा है जिसका नाम है ‘सदाबहार आम।’

सदाबहार आम की विविध किस्म को विकसित करने में राजस्थान के कोटा में रहने वाले एक ५५ वर्षीय किसान श्री किशन सुमन को १५ साल लग गए और उनकी मेहनत सफल हुई। उन्होंने एक ऐसे विशाल हरी गहरी रंग की पत्तियों वाला एक सराहनीय आम के पेड़ का पता लगाया जो साल भर फल देता है।

आम छोटे और बोने किस्म का है जो स्वाद में अत्यंत मीठा है। यह आम की फसल किचन गार्डनिंग के लिए भी उपयुक्त है जो गहरी फसल होने के बाद बड़े पैमाने में उगाया जाता है।

JK Tyre AD

श्री किशन सुमन को सदाबहार ग्राफ्टिंग की देश और विदेश से ८००० से अधिक ऑर्डर्स मिल चुके है साथ ही उन्होंने भारत के अनेक राज्यों में किसानों को ६००० से अधिक पौधों की आपूर्ति की है।
एनआईएफ द्वारा बोना सदाबहार आम के रोपण की सुविधा राष्ट्रपति भवन के प्रसिद्ध मुगल गार्डन में प्रदान की जा रही है।

एनआईएफ ने इस दौर की आम किस्म के विकास के लिए श्री किशन सुमन को 9 वें राष्ट्रीय ग्रासरूट इनोवेशन एंड ट्रेडिशनल नॉलेज अवार्ड से सम्मानित किया।

श्रीकिशन सुमन, एक कक्षा 2 ड्रॉपआउट, एक माली (माली) बन गए और बाग प्रबंधन और फूलों की खेती में रुचि विकसित की। उनके परिवार ने गेहूं और धान उगाया। परिवार की आय के पूरक के लिए श्रीकिशन ने फूल उगाना शुरू किया। उन्होंने विभिन्न गुलाब किस्मों का विकास किया। ऐसा करते हुए, उन्होंने आम उगाने का उपक्रम किया।

agri news

Leave a Reply