किसान मेला-सह-कृषि प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी का महत्व

किसान मेला-सह-कृषि प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी का महत्व

50

हाल ही में रांची में २ दिन का किसान मेला-सह-कृषि प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है।

रांची के आईसीएआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ नेचुरल रेजिन एंड गम्स, कृषि विज्ञान केंद्र के साथ मिलकर इस मेला का सफलतापूर्वक अयोजन किया गया ।

इस कार्यक्रम का उद्घाटन झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा हुआ। साथ ही में उन्होंने भाषण में कृषि और वन क्षेत्र में गहन बदलाव एवं ग्रामीण क्रय शक्ति में सुधार लाने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता पर जोर दिया।

tractor news

कृषि मंत्री,गेस्ट ऑफ ऑनर, बादल पतरालेख, ने भाषण में किसानों की खेती के महत्व को रेखांकित किया। उन्होंने वैज्ञानिक लाॅक खेती का ज्ञान फैलाने की भी बात कही।

दो दिवसीय आयोजन में मौजूद राजेश कच्छप,विधायक, झारखंड ने केंद्र और राज्य सरकारों की हाल की सभी किसान कल्याण योजनाओं के बारे में बात की।

आयोजन में मौजूद ICAR-IINRG के निदेशक डॉ। के.के. शर्मा, ने भारत के आदिवासी किसानों की आजीविका सुरक्षा में लाख के महत्व पर जानकारी दी।

साथ ही उन्होंने राज्य सरकार से राष्ट्रीय लाख विकास बोर्ड (एनएलडीबी) के गठन का मुद्दा उठाने का आग्रह भी किया।

1,500 से अधिक किसान जिनमें महिला किसान, लाख उत्पादक और ग्रामीण युवा इस आयोजन में शामिल होकर अपनी महत्व भूमिका निभाई और ज्ञान अर्जन किया ।

ICAR-IINRG और IFIG के बीच एक समझौता ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर किए गए। इसके अलावा, इवेंट के दौरान दो एक्सटेंशन फोल्डर्स भी जारी किए गए थे।

agri news

Leave a Reply