खाद्य तेलों की कीमत पर हुई गिरावट

खाद्य तेलों की कीमत पर हुई गिरावट

211

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार, केंद्र ने बताया कि, देश भर के थोक बाज़ार में आठ प्रकार के खाद्य तेलों की कीमतों में पिछले सप्ताह की तुलना में गिरावट का रुख दिख रहा है। पिछले सप्ताह की अपेक्षा इस सप्ताह विभिन्न खाद्य तेल में शामिल जैसे सरसों, मूंगफली, सूरजमुखी तेल, नारियल तेल, वनस्पति, पाम तेल, तिल के तेल आदि की थोक कीमतों में गिरावट देखी गयी है।

आकड़ों के अनुसार, यदि पाम तेल का थोक भाव देखा जाए तो १४ सितंबर को २.५० प्रतिशत गिरकर १२,३४९ रुपये प्रति टन हो गया, जो एक सप्ताह पहले १२,६६६ रुपये प्रति टन था।

वहीं,नारियल तेल १.७२ प्रतिशत की गिरावट के साथ १७,१०० रुपये प्रति टन हो गया और तिल के तेल का थोक भाव २.०८ प्रतिशत घटकर २३,५०० रुपये प्रति टन भाव देखा गया है।

१४ सितंबर को सूरजमुखी तेल का थोक भाव १.३० प्रतिशत गिरकर १५,९६५ रुपये प्रति टन हो गया, जो १६,१७६ रुपये प्रति टन एक सप्ताह पहले था।

इसके अलावा सरसों तेल और वनस्पति तेल का थोक भाव में भी एक प्रतिशत से गिरावट आयी है जिसका भाव १६,५७३ और १२,५०८ रूपए प्रति टन हो गया है। वहीं मूंगफली तेल का थोक भाव १.३८ प्रतिशत गिरकर १६,८३९ रुपये प्रति टन हो गया है।

आकड़ों के अनुसार तेलों के भाव में गिरावट दिख रही हैं किन्तु पिछले साल की अपेक्षा अभी भी अधिक हैं।

कीमतों पर लगाम लगाने और घरेलू आपूर्ति बढ़ाने के लिए केंद्र ने खाद्य तेलों पर आयात शुल्क कम किया है। इसने जमाखोरी के खिलाफ भी कदम उठाए हैं और थोक विक्रेताओं, मिल मालिकों और रिफाइनरों को अपने स्टॉक का विवरण एक वेब पोर्टल पर उपलब्ध कराने को कहा है।

यहाँ तक ​​की खुदरा विक्रेताओं को भी ब्रांडेड खाद्य तेलों की दरों को प्रमुखता से प्रदर्शित करने के लिए कहा गया है ताकि उपभोक्ता चुनाव कर सकें।

agri news

Leave a Reply