100 से अधिक एग्री जिलों में ड्रोन उड़ेंगे

100 से अधिक एग्री जिलों में ड्रोन उड़ेंगे

172

DGCA विमानन प्राधिकरण ने भूमि पर फोटो खींचने के लिए ड्रोन उड़ाने की मंजूरी प्रदान की है। यह फैसला केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के द्वारा किया गया है । यह १०० जिलों में गेंहू और chawal की भूमि पर फसल उत्पादन का परीक्षण करने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत लिया गया है ।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यह भी कहा कि यह सबसे बड़ा पायलट अध्ययन है जो रिमोट सेंसिंग तकनीक पर आधारित है।

ड्रोन ना सिर्फ तस्वीरों को लेने का काम करेगा बल्कि बड़े पैमाने पर शोध अध्ययन में उच्च स्थानिक संकल्प उपग्रह इमेजरी का भी उपयोग किया जाएगा इसमें शामिल है कृत्रिम बुद्धि,बुद्धिमान संवेदन, बायोफिजिकल सिमुलेशन।

तोमर ने ट्वीट करते हुए यह भी कहा कि “PMFBY के भीतर दावों के त्वरित समाधान की सुविधा के लिए, @ DGCAIndia ने चावल और गेहूं विकसित करने वाले 100 जिलों में ड्रोन उड़ाने के लिए @AgriGoI के प्रस्ताव को अधिकृत किया है ।”

देश में सही तरह से उपयुक्त फसल कटाई प्रयोग, बुद्धिमान नमूनाकरण विधि तथा PMFBY के तहत पूरे देश में कई रिमोट सेंसिंग डेटा चालित पायलट परीक्षणों की समीक्षा की गई।

पायलट अध्ययन के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर लक्षित उपज भविष्यवाणी के लिए प्रौद्योगिकी-चालित रणनीति बनाने के लिए 13 कंपनियों को खरीफ सीजन 2019 में और रबी सीजन 2019-20 में सूचीबद्ध किया गया था।

agri news

Leave a Reply