केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, 31 मार्च के बाद भी चावल निर्यात  (Rice Export) पर  कायम रहेगी 20 फीसदी निर्यात शुल्क।

केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, 31 मार्च के बाद भी चावल निर्यात  (Rice Export) पर  कायम रहेगी 20 फीसदी निर्यात शुल्क।

440

चावल निर्यात (Rice Export) शुल्क: केंद्र सरकार ने चावल के निर्यात मामले में महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। इस निर्णय के अनुसार, 31 मार्च 2024 के बाद भी 20 फीसदी निर्यात शुल्क को बरकरार रखने का फैसला किया गया है। यह निर्णय कल (21 फरवरी) नई दिल्ली में हुई एक बैठक में लिया गया है, और इसके साथ ही कई अन्य महत्वपूर्ण निर्णय भी लिए गए हैं।

KhetiGaadi always provides right tractor information

सरकार द्वारा बढ़ती कीमतों पर नियंत्रण के प्रयास

महंगाई को नियंत्रित करने के उद्देश्य से सरकार ने चावल की निर्यात पर लगने वाले शुल्क में बदलाव की घोषणा की है। 25 अगस्त 2023 से 16 अक्टूबर 2023 तक रिफाइंड चावल पर 20 फीसदी निर्यात शुल्क लगाने का फैसला किया गया था, जो बाद में 31 मार्च 2024 तक बढ़ा दिया गया। हालांकि, निर्यात शुल्क की अवधि को बढ़ा दिया गया है, लेकिन इसकी कब तक जारी रहेगी, यह अभी तक निर्दिष्ट नहीं किया गया है, अर्थात इसका कोई निर्धारित समयग्रंथ नहीं है।

Khetigaadi

अधिसूचना जारी

इस दौरान वित्त मंत्रालय ने जारी किए गए नोटिस के अनुसार, 20 फीसदी निर्यात  (Rice Export)शुल्क 31 मार्च के बाद भी बिना किसी अंतिम तारीख के लागू रहेगा। चावल के पर्याप्त भंडारण के साथ, सरकार ने पहले ही उबले चावल के निर्यात पर 20 प्रतिशत का अतिरिक्त शुल्क लगा दिया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि देश में घरेलू कीमतें न बढ़ें और सीमा पार न करें। इसके अलावा, पीली मटर के शुल्क मुक्त आयात को 31 मार्च के बाद भी जारी रखने की घोषणा की गई है, जो महंगाई को काबू में रखने के लिए सरकार द्वारा की गई है।

कच्चा चावल क्या है?

धान से चावल निकालने की प्रक्रिया में, पहले चावल को भूसी सहित उबाला जाता है और फिर इसे अलग कर लिया जाता है। इस प्रक्रिया में बनने वाले चावल को “उस्ना चावल” या “पोन्नी चावल” कहा जाता है। इस चावल में वे सभी लाभकारी तत्व मौजूद होते हैं जो भूरे चावल में पाए जाते हैं। उस्ना चावल पारदर्शी, तेजी से पकने वाला, और पचाने में सरल होता है। हालांकि, केंद्र सरकार ने इस चावल पर निर्यात शुल्क की अवधि बढ़ाने का फैसला किया है, लेकिन इसकी कोई निर्धारित अंतिम तिथि नहीं है।



अधिक जानकारी के लिए डाउनलोड कीजिए खेतिगाडी ऍप. 

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply