किसानो के लिए कृषि यंत्रीकरण है समय की मांग।

किसानो के लिए कृषि यंत्रीकरण है समय की मांग।

1176

यह भारत जैसे देश में 40% रोजगार भी प्रदान करता है, जो राष्ट्रीय आय का लगभग 20% है। बहुत से लोग इस प्रश्न का सामना करते हैं कि इतनी बड़ी जनसंख्या होते हुए भी मशीनीकरण की आवश्यकता क्यों है। भारत की कुल खेती योग्य भूमि का 51% शुष्क भूमि है, जबकि 49% सिंचित है। आय में बागवानी क्षेत्र का हिस्सा 60% है और आय का केवल 40% शुष्क भूमि से आता है।

KhetiGaadi always provides right tractor information

बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए 2030 में 355 मिलियन टन खाद्यान्न की आवश्यकता के लिए 40 किलोवाट प्रति हेक्टेयर कृषि शक्ति के उपयोग की आवश्यकता होगी। उसके लिए विभिन्न उपकरणों के उपयोग को बढ़ाने की आवश्यकता है।

कृषि यंत्रीकरण क्या है?

Khetigaadi

कृषि कार्य समय पर, कम मेहनत से, बीज, खाद, रसायन आदि से होता है। कृषि मशीनीकरण, आगतों के उचित और कुशल उपयोग के लिए औजारों और मशीनरी का उपयोग है, जिससे उत्पादन लागत में 30 से 40% की बचत होती है जबकि समय पर संचालन से उत्पादन में 15 से 20% की वृद्धि होती है।

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply