ट्रैक्टर वॉल्यूम ग्रोथ को १ प्रतिशत से ४ प्रतिशत तक घटाने का आईसीआरए ने किया फैसला

ट्रैक्टर वॉल्यूम ग्रोथ को १ प्रतिशत से ४ प्रतिशत तक घटाने का आईसीआरए ने किया फैसला

809

इन्वेस्टमेंट एंड क्रेडिट रेटिंग एजेंसी के नाम से माने जाने वाली कंपनी असल में एक क्रेडिट एजेंसी कंपनी है जिसने हाल ही में आये कोविद-१९ की दूसरी लहर को देखते हुए वित्त वर्ष २२ के चलते घरेलू ट्रैक्टर वॉल्यूम ग्रोथ के वाय-औ-वाय में १%-४% में घटौती की है। इससे पहले वाय-औ-वाय ४ प्रतिशत – ६ प्रतिशत था।

आईसीआरए ने इस बात पर भी ज़ोर डाला है की, पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष भी उद्योग के प्रतिभागियों के लिए मजबूत योगदान रहेगा।

एजेंसी ने विकास के दृष्टिकोण को कम करते हुए कहा कि इन अनुमानों के लिए नकारात्मक जोखिम प्रतिकूल वर्षा के कारण फसल को नुकसान पहुंचाते हैं और कोविड के मामलों में पुनरुत्थान होता है।

एजेंसी का कहना है की, ट्रैक्टर उद्योग पर क्रेडिट आउटलुक पर स्थिरता बनी हुई है।

आईसीआरए के उपाध्यक्ष रोहन कंवर गुप्ता का कहना है की, उद्योग में रिटर्न इन्वेस्टमेंट की उम्मीद है।

“ओईएम नए एप्लिकेशन-उन्मुख उत्पादों को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखते हैं और उत्सर्जन मानदंड से संबंधित उत्पाद लॉन्च पर काम कर रहे हैं। उद्योग पर आईसीआरए के स्थिर दृष्टिकोण के अनुरूप, ओईएम के क्रेडिट प्रोफाइल के स्वस्थ रहने की उम्मीद है, सीमित ऋण द्वारा समर्थित, स्वस्थ नकद और तरल निवेश और सीमित निवेश योजनाएं.”

उनका कहना है कि, ट्रैक्टरों के लिए ओईएम द्वारा कोई बड़ा उत्पादन बंद नहीं किया गया था। अचानक आयी दूसरी लहर के कारण ट्रैक्टर उद्योग में विकास की गति धीमी हो गयी है जहाँ पिछले वर्ष लॉकडाउन की स्थिति में भी २७ प्रतिशत की वृद्धि देखि गयी थी।

जानकारों अनुसार, लॉक डाउन में ढील देने के बाद जून से उद्योग के थोक और खुदरा वॉल्यूम में उल्लेखनीय सुधार देखने की उम्मीद है।

एजेंसी का कहना है की, पिछले कुछ महीनों में यह भी देखा गया है की, ढुलाई की मांग में काफी सुधार हुआ है, जिसका नेतृत्व ग्रामीण बुनियादी ढांचे के विकास पर सरकार के निरंतर दबाव के कारण हुआ है; वही उद्योग की मात्रा का समर्थन करने की संभावना है।

agri news

Leave a Reply