उत्तर भारत के कई राज्यों में होगी बारिश

उत्तर भारत के कई राज्यों में होगी बारिश

58

जनवरी के महीने की तीसरी पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत के पर्वतीय राज्यों की ओर आ रहा है। यह प्रणाली 31 जनवरी की शाम से जम्मू और कश्मीर में अपना प्रभाव दिखाना शुरू कर देगी। यह पश्चिमी विक्षोभ कमजोर है और इसके साथ ही यह जम्मू और कश्मीर के उत्तर से होकर गुजरेगा यानी उच्च ऊंचाई से होकर गुजरेगा, जिसके कारण बर्फीले हवाएँ जारी रहेंगी।

इसके कारण पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार में अगले दो-तीन दिनों तक ठंडी का मौसम रहेगा।

1 फरवरी से मौसम की गतिविधियां बढ़ेंगी जब जम्मू-कश्मीर के अलावा गिलगित -बाल्टिस्तान मुजफ्फराबाद सहित लद्दाख और उत्तर हिमाचल प्रदेश में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी होने की आशंका है।

JK Tyre AD

हालाकि, जब उत्तर भारत में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ होता है, तो उत्तर पश्चिमी दिशा से मैदानी इलाकों की ओर आने वाली ठंडी हवाएं रुख बदल देती हैं। उम्मीद है कि 1 फरवरी से 3 फरवरी तक पश्चिमी हिमालयी राज्यों में कई स्थानों पर बारिश और बर्फबारी होने की आशंका है।

4 फरवरी से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में ही नहीं बल्कि मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में बारिश की होने की सम्भावना देखने को मिलेंगी। पश्चिमी विक्षोभ अब उत्तरी पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर तक पहुँच गया है। इसका असर जम्मू-कश्मीर में रविवार शाम या रात से शुरू होगा।

यह प्रणाली बाकि प्रणालियों की तुलना में कमजोर है, जिसके कारण हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश या बर्फबारी की ज्यादा संभावना नहीं है।

agri news

Leave a Reply