देश में रबी फसलों की बुआई में बड़ी बढ़ोतरी।
रबी फसल

देश में रबी फसलों की बुआई में बड़ी बढ़ोतरी।

1643

इस वर्ष देश में बड़े पैमाने पर कृषि फसलों की बुआई की गई है। कुछ जगहों पर अभी भी बोवनी चल रही है। इसलिए केंद्र सरकार ने कहा है कि भविष्य में देश में चावल, गेहूं और अन्य अनाज की कमी नहीं होने दी जाएगी। सरकार ने रबी सीजन की फसलों की बुवाई के अंतिम आंकड़ों की घोषणा कर दी है। इसमें अब तक 720 लाख हेक्टर रकबे में रबी की फसल बोई जा चुकी है।

KhetiGaadi always provides right tractor information

देश में अब तक 720 लाख हेक्टर में रबी सीजन की फसल बोई जा चुकी है। गेहूं, चावल, दलहन, तिलहन और मोटे अनाज के क्षेत्र में वृद्धि हुई है। केंद्र सरकार ने रबी सीजन की फसलों की बुआई के आंकड़ों के मुताबिक आम लोगों को राहत दी है. देश के कुछ हिस्सों में रबी सीजन की बुआई अभी भी जारी है। 2021-22 में रबी फसल के तहत बोया गया कुल क्षेत्रफल 697.98 लाख हेक्टर था। इस वर्ष यानि 2022-23 में 720.68 लाख हेक्टर रकबे में बुवाई की जा चुकी है। इस साल रबी सीजन में बुआई में 3.25 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इस वर्ष बीजों की बुवाई 2021-22 की अवधि की तुलना में 22.71 लाख हेक्टर अधिक है।

2021-22 में धान की फसल 35.05 लाख हेक्टर में बोई गई थी। 2022-23 में 46.25 लाख हेक्टर में धान की फसल बोई जा चुकी है। धान की खेती का रकबा 11.20 लाख हेक्टर बढ़ा है। हालांकि, यह पिछले वर्षों के औसत बोए गए रकबे 47.71 लाख हेक्टर से थोड़ा कम है। तेलंगाना और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों ने चावल के क्षेत्र में सबसे अधिक वृद्धि देखी है। वहीं, गेहूं की खेती का रकबा बढ़कर 300 लाख हेक्टर से ज्यादा हो गया है।

Khetigaadi

केंद्र सरकार खाद्य तेल पर आयात निर्भरता कम करने के लिए तिलहन उत्पादन को बढ़ावा दे रही है। उत्पादन कम होने की वजह से देश को 2021-22 में 1.41 लाख करोड़ रुपए की लागत से 142 लाख टन खाद्य तेल का आयात करना पड़ा। देश में तिलहन की बुवाई 2021-22 के 102.36 लाख हेक्टर से 7.31 प्रतिशत बढ़ी है। इस साल यह 109.84 लाख हेक्टर रहा है। राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में तिलहन का क्षेत्रफल सबसे अधिक बढ़ा है। दूसरी ओर तिलहनों में सरसों का रकबा 2022-23 में 6.77 लाख हेक्टर बढ़कर 98.02 लाख हेक्टर हो गया है, जो 2021-22 में 91.25 लाख हेक्टर था।

केंद्र सरकार ने देश के 370 जिलों में दालों का उत्पादन बढ़ाने का काम शुरू कर दिया है. देश में दलहन का रकबा 167.31 लाख हेक्टर से बढ़कर 167.86 लाख हेक्टर हो गया है। 0.56 लाख हेक्टर की वृद्धि हुई है। मूंग और मसूर दाल के रकबे में इजाफा हुआ है। महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान और कर्नाटक में दलहन की बुवाई बढ़ी है।

केंद्र सरकार मोटे अनाज और उसके उत्पादन को बढ़ाने पर फोकस कर रही है। देश में मोटे अनाज के रकबे में 2.08 लाख हेक्टर की वृद्धि दर्ज की गई है। 2021-22 में 51.42 लाख हेक्टर में बोवनी की जा चुकी है। 2022-23 में 53.49 लाख हेक्टर क्षेत्र को कवर किया गया है।

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply