महाराष्ट्र का मौसम: राज्य में आज और कल बारिश के आसार, कोंकण समेत विदर्भ में मौसम ठंडा

महाराष्ट्र का मौसम: राज्य में आज और कल बारिश के आसार, कोंकण समेत विदर्भ में मौसम ठंडा

1753

प्रदेश में लगातार जलवायु परिवर्तन हो रहा है। जहां शीत लहर चल रही है, जहां बादल छाए हुए हैं। इस बदलते परिवेश का असर कृषि फसलों पर पड़ रहा है। इसलिए किसान चिंतित हैं। इसी तरह आज और कल (28 और 29 जनवरी) मौसम विभाग ने राज्य में बिजली गिरने के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है. इससे ठंड का असर कुछ कम होगा ऐसा वरिष्ठ मौसम विज्ञानी माणिकराव खुले ने कहा है।

KhetiGaadi always provides right tractor information

माणिकराव खुले के अनुसार, मध्य महाराष्ट्र में 10 और मराठवाड़ा में सात सहित 17 जिलों में अगले दो दिनों तक बादल छाए रहने की संभावना है। आज और कल कुछ स्थानों पर छिटपुट बारिश की भी संभावना है। इससे मध्य महाराष्ट्र के साथ मराठवाड़ा में भी ठंड का असर कम होने की संभावना है। साथ ही मणिकरव खुले ने संभावना जताई है कि मुंबई के साथ कोंकण और विदर्भ में महसूस होने वाली ठंड का असर जारी रहेगा।

मौसम विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक 29 जनवरी के बाद महाराष्ट्र में ठंड बढ़ने की संभावना है. इस समय राज्य के ज्यादातर हिस्सों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इसी तरह मौसम विभाग ने 29 जनवरी के बाद महाराष्ट्र में शीतलहर चलने की संभावना जताई है। यह शीत लहर दो फरवरी तक जारी रहेगी। मौसम विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक मध्य महाराष्ट्र में शीतलहर जैसी स्थिति बनने वाली है। मौसम विभाग के अनुसार, मुंबई में न्यूनतम तापमान औसत से नीचे गिर सकता है। अगले कुछ दिनों तक बादल छाए रहने की भी भविष्यवाणी की गई थी। साथ ही न्यूनतम तापमान में भी मामूली बढ़ोतरी होगी। लेकिन दिन के तापमान में आंशिक गिरावट आने की संभावना है। 

Khetigaadi

महाराष्ट्र में तापमान में लगातार उतार-चढ़ाव हो रहा है। कभी ठंड तो कभी बारिश हो रही है। इस मौसम का असर रबी सीजन की फसलों पर पड़ रहा है। अधिकांश क्षेत्रों में करपा रोग का प्रकोप बढ़ गया है और इससे किसानों की चिंता बढ़ गई है। साथ ही गेहूं, चना, मक्का की फसलें भी इस वातावरण से प्रभावित होंगी और उत्पादन घटने का अनुमान है। भारी बारिश और वापसी की बारिश ने पहले ही खरीफ सीजन में किसानों की फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया है। लिहाजा किसानों की सारी उम्मीदें अब रबी सीजन की फसलों पर टिकी हैं।

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply