डेयरी किसानों को केसीसी के माध्यम से ऋण में मिलेगा लाभ

डेयरी किसानों को केसीसी के माध्यम से ऋण में मिलेगा लाभ

323

गुजरात केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला ने हाल ही में किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम से डेयरी किसानों को भी योजना का लाभ प्रदान करने की घोषणा की है। गुजरात सरकार ने कहा कि, किसान क्रेडिट कार्ड योजना से कम ब्याज दर पर ३ लाख रूपए तक ऋण प्रदान डेयरी किसानों को किया जाएगा।

गुजरात जिले के आणंद शहर में राष्ट्रीय दुग्ध दिवस समारोह के अवसर पर, पशुपालन, डेयरी मंत्री, एवं केंद्रीय मत्स्य पालन में रूपला ने गोपाल रत्न पुरस्कार वितरित करने के अलावा कुछ राज्यों के लिए ऑनलाइन आईवीएफ प्रयोगशालाओं का भी शुभारंभ किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पशुधन किसानों के लिए एक नयी योजना कि शुरुवात की है जिससे वे अधिक से अधिक लाभ ले सकें। पहले केसीसी किसानों के लिए ही लाभदायी योजना थी, लेकिन अब डेयरी किसानों को भी इस योजना का लाभ प्राप्त होगा। डेयरी किसान बहुत ही कम ब्याज दर पर ३ लाख रूपए तक क्रेडिट का लाभ उठा सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम लाभार्थियों को नाबार्ड से २ से ४ प्रतिशत तक की दरों पर ऋण प्रदान करता है।
रूपाला ने डॉ वर्गीज कुरियन द्वारा शुरू किए गए सहकारी आंदोलन की सराहना की और सहकारी समितियों की विरासत और परंपरा को बनाए रखने के लिए एनडीडीबी और अमूल को बधाई दी, और कहा कि यह परंपरा कई अन्य राज्यों में फैल गई है और देश को दुनिया में दूध का सबसे बड़ा उत्पादक बना दिया है।

मंत्री ने १५ नवंबर को एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया, जिसके दौरान किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ देश के सभी पात्र पशुपालन, डेयरी, मत्स्य पालन और किसानों तक पहुंचाया जाएगा। यह अभियान १५ नवंबर, २०२१ से १५ फरवरी, २०२२ तक ३ महीने तक चलेगा।

agri news

Leave a Reply