गुजरात : चक्रवाती तूफ़ान ‘ताऊ ते’ से कृषि बागवानी को १,०८५ करोड़ रुपये का नुकसान

गुजरात : चक्रवाती तूफ़ान ‘ताऊ ते’ से कृषि बागवानी को १,०८५ करोड़ रुपये का नुकसान

121

चक्रवाती तूफ़ान ‘ताऊ ते’ का असर गुजरात के जिलों में काफी प्रभावी रहा। तूफ़ान का ज़्यादा असर सौराष्ट्र के ज़िलों में हुआ है। इसके कारण न सिर्फ लोगों को नुकसान पहुंचा है बल्कि, कृषि क्षेत्र में भी अत्यधिक तबाई मचाई है।

गुजरात के मुख्यमंत्री संवेदना जताते हुए यह भी बताते हैं कि, ‘ताऊ ते’ से राज्य में बागवानी और कृषि को १,०८५ करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। सौराष्ट्र के चार जिलों – गिर-सोमनाथ, जूनागढ़, अमरेली और भावनगर में कृषि और बागवानी को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। हालांकि अन्य जिलों में भी भारी नुकसान हुआ है।

सरकारी सूत्रों ने बताया, ‘कृषि और बागवानी को हुए नुकसान का विस्तृत सर्वे जारी है. “हालांकि, अब तक के अनुमान बताते हैं कि बागवानी क्षेत्र को लगभग ७१० करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है और कृषि क्षेत्र को लगभग ३७५ करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।”

JK Tyre AD

क्षतिग्रस्त फसलों में आम, नारियल, केला और सब्जियां हैं। पपीता, चीकू, खजूर और अन्य फलों की फसलों को भी काफी नुकसान हुआ है। एक लाख हेक्टेयर में बागवानी फसलों को नुकसान पहुंचा है।

जानकारों अनुसार, ‘बाजरा, हरा चना, काला चना और तिल जैसी फसलों को लगभग ३७५ करोड़ रुपये का नुकसान होने का अनुमान है।

सूत्र ने कहा कि राज्य सरकार ने अनुमान लगाया है कि बागवानी फसलों के लिए १०३ करोड़ रुपये मुआवजे के रूप में और कृषि के लिए लगभग ७३ करोड़ रुपये दिए जा सकते हैं।

अधिकारीयों ने बताया कि गुजरात में १९९८ के बाद ‘ताऊ ते’ सबसे खतरनाक तूफ़ान हैं। इस बीच प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफ़ान से प्रभावित गुजरात और द्वीप के इलाकों का दौरा किय। उन्होंने अहमदाबाद में बैठक भी की। प्रधान मंत्री ने गुजरात के लिए १००० करोड़ रूपए की आर्थिक मदद का एलान भी किया।

agri news

Leave a Reply