फसल बिमा योजना

फसल बिमा योजना

108

सूत्रों के मुताबिक आयुक्त ने चार बिमा कंपनियों के खिलाफ करवाई की है। इनमे रिलायंस जनरल इंश्योरेंस (मुंबई), बजाज अलियास जनरल इंश्योरेंस (पुणे ), भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस (मुंबई), एचडीएफसी एग्रो जनरल इंश्योरेंस (मुंबई) ये कंपनिया शामिल है। इन कंपनियोंने २०२० में बिमा योजना में हिस्सा लिया था। इसके बाद इन कंपनियों ने बिमा प्रीमियम के स्वरुप में किसानों से करोड़ो रूपये वसूल किये है। इसीलिए आयुक्त ने इन सभी कंपनियों को नोटिस जारी की है।

आयुक्त ने नोटिस में स्पष्ट किया है की बिमा कंपनियों द्वारा जमा की गयी राशि को फसल बिमा प्रीमियम मानते हुए ,किसानों की देय मुआवजे की राशि कम है। और किसोनो को योग्य मुआवजा देना चाहिए। इसके साथ ही प्राकृतिक आपदा के तहत स्थानीय प्रशासन के द्वारा किये गए पंचनामे को भी ध्यान में रखा जाये। जिन किसानों को बिमा राशि नहीं मिली उनके लिए स्थानीय पंचनामे को मानक माना जाना चाहिए।

सूत्रों के अनुसार इन सभी कंपनियों को कृषि आयुक्तालय ने नोटिस भेज कर किसानों को उनका मुआवजा देने की मांग की थी। उन्हें दो दिनों के अंदर रिपोर्ट देने के लिए भी कहा था। लेकिन उन्होंने इसकी सराहना नहीं की। इसलिए आयुक्त ने आपराधिक कारवाई की चेतावनी जारी की है।

JK Tyre AD

अब कृषि आयुक्त द्वारा बिमा कंपनियों को तीन दिन का समय दिया जाता है। किसानो को मुआवजा नहीं मिलने पर प्राकृतिक आपदा प्रबंधन अधिनियम २००५ के प्रावधनों के अनुसार इन बिमा कंपनियों के उपर करवाई की जाएगी।

agri news

Leave a Reply