किसान कृषि पंप बिजली नीति से किसानों को हुआ लाभ

किसान कृषि पंप बिजली नीति से किसानों को हुआ लाभ

1108

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, MSEDCL के एक अधिकारी ने बयान में कहा कि, ५.८२ लाख किसानों ने कृषि पंप बिजली बिलों के बकाया का भुगतान किया है जिसमें ५११.२६ करोड़ रुपये राशि प्राप्त हुई है इस राशि पर भी २५६ करोड़ रुपये की छूट दी गई है। यह राशि का भुगतान पुणे डिवीजन में किया गया है।

KhetiGaadi always provides right tractor information

राज्य सरकार द्वारा देखा गया है कि, पिछले साल २०२० को घोषित की गयी नई कृषि पंप नीति को राज्य भर में अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। किसानों ने भी इस योजना से लाभ उठाया है।

राज्य के ऊर्जा मंत्री डॉ नितिन राउत का कहना है कि, योजना की प्रक्रिया लगातार बढ़ रही है और किसानों से उन्होंने योजना का लाभ उठाने और बकाया राशि से छुटकारा पाने की अपील की है।

“राज्य में ४४.४४ लाख कृषि पंप उपभोक्ता हैं, जिनके पास ४५,७८५ करोड़ रुपये का बकाया है। नई योजना से कुल ३०,००० करोड़ रुपये की राहत मिलेगी।”

योजना की अवधि तीन वर्षो के लिए पूरी की गयी है । जिसमें प्रथम वर्ष में एरियर का भुगतान करने वाले कृषि पंप उपभोक्ताओं को संशोधित मूल बकाया पर ५० प्रतिशत की छूट दी जाएगी और ब्याज और विलंब शुल्क पूरी तरह से माफ किया जाएगा। इस प्रकार,पहले वर्ष में पूरे बकाया का भुगतान करने वाले उपभोक्ताओं को लगभग ६६ प्रतिशत की छूट मिलेगी।

दो साल में एरियर का भुगतान करने वाले उपभोक्ताओं को संशोधित प्रिंसिपल एरियर पर ३० फीसदी छूट मिलेगी और तीन साल में एरियर का भुगतान करने वालों को २० फीसदी की छूट मिलेगी।

इस योजना का लाभ उठाने वाले किसानों को सितंबर २०१५ से पहले के बकाए पर सभी ब्याज और विलंब शुल्क से छूट दी जाएगी।

साथ ही, सितंबर २०१५ के बाद के बकाया पर देय भुगतान शुल्क पूरी तरह से माफ कर दिया जाएगा और इस पर ब्याज MSEDCL द्वारा लिए गए ऋण पर ब्याज दर से लिया जाएगा।

agri news

To know more about tractor price contact to our executive

Leave a Reply