डीसीबी बैंक करेगा ट्रैक्टर ऋण की मांग को “प्रोत्साहित”

डीसीबी बैंक करेगा ट्रैक्टर ऋण की मांग को “प्रोत्साहित”

323

डीसीबी बैंक ग्रामीण क्षेत्रों के किसान समुदाय से ट्रैक्टर ऋण की मांग को “प्रोत्साहित” करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहता है साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों से व्यापार की अच्छी संभावना देखता है।

पिछले साल ट्रैक्टर ऋण की मांग में वृद्धि को देखते हुए बैंक ने ओडिशा, कर्नाटक,तेलंगाना,राजस्थान,मध्य प्रदेश,महाराष्ट्र,जैसे राज्यों में ट्रैक्टर ऋण की मांग को को पूरा किया था।

डीसीबी बैंक वित्त वर्ष 2015 की बिक्री से स्पष्ट होने के साथ-साथ ग्रामीण संभावनाओं के बारे में भी सकारात्मक है।

JK Tyre AD

डीसीबी बैंक ने क्रिसिल की एक रिपोर्ट की चर्चा की जिसमें २०१५ की पहली छमाही में १२ प्रतिशत बढ़ोतरी ट्रैक्टर की बिक्री में हुई थी। डीसीबी बैंक ने ट्रैक्टर की मांग को पूरा करने की वजह अच्छे मानसून और उच्च फसल उत्पादन बताया।

कहा जाता है कि ट्रैक्टर ऋण के व्यवसाय की वृद्धि मौसम की योनि और अन्य मैक्रो और सूक्ष्म चर के बीच फसल के मौसम पर निर्भर करती है।

बैंक लैंडर किसानों के लिए ट्रैक्टर ऋण का लाभ उठाने के लिए नकदी प्रवाह के आधार पर ऋण पुनर्भुगतान को भी अनुकूलित कर सकता है।

नरेन्द्रनाथ मिश्रा, बैंक के हेड ऑफ़ अग्रि एंड इंक्लूसिव बैंकिंग के अनुसार, “ट्रैक्टरों की बिक्री में तेजी देखी गई है, इसने प्रमुख बाजारों में सकारात्मक वृद्धि दर्ज की है। आने वाले महीनों में ट्रैक्टर बाजार में तेजी बनी रहने की उम्मीद है। हमारे ट्रैक्टर ऋणों की मांग विशेष रूप से ओडिशा जैसे राज्यों में कृषक समुदाय से उत्साहजनक है। महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और अन्य, ” राज्यों में भी तेजी से ट्रैक्टर की मांग देखी जा सकती है ।

बैंक का कहना है कि उधारकर्ता कटी हुई फसल को बेचने के उपयोग के आधार पर अग्रिम में पुनर्भुगतान की योजना बना सकता है।

बैंक कर्ताओ का कहना है कि, “आगे बढ़ते हुए, डीसीबी बैंक अन्य ऋण उत्पादों जैसे किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) और अर्ध-शहरी और ग्रामीण ग्राहकों के लिए गोल्ड लोन के अलावा ट्रैक्टर ऋणों पर ध्यान केंद्रित करेगा।

agri news

Leave a Reply