पीएम मोदी कहते हैं, ” एमएसपी था, वहां है, वहीं रहेगा

पीएम मोदी कहते हैं, ” एमएसपी था, वहां है, वहीं रहेगा

23

 प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी ने राज्यसभा को सम्बोधित करते हुए  कहा की न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी )था, है और  आगे भी रहेगा। कृषि कानूनों पर बोल्ट हुए उन्होंने कहा की मंडियों का आधुनिकीकरण किया जायेगा और गरीबों के लिए सस्ती राशन भी जारी रहेगी। 

पीएम मोदी ने कहा की “बहुत सारे नेताओं ने किसानों के आंदोलन के बारे में बात की है, लेकिन शायद ही किसी ने मुख्य मुद्दों के बारे में बात की हो।” 

एनडीए ने किसानों को सशक्त बनाने के लिए २०१४ से कृषि क्षेत्र में कई बदलाव किए। और “फसल बीमा योजना” को और अधिक किसान-हितैषी बनाने के लिए बदल दिया गया। पीएम-किसान योजना भी लाई गई। हम छोटे किसानों के लिए काम कर रहे हैं।”

tractor news

प्रधानमंत्री ने कहा कि “३३ फीसदी किसान २ बीघा जमीन से कम के मालिक हैं।” मोदी ने कहा, “हमारी प्रधान मंत्री बीमा योजना के तहत, अब तक ९०,०००  करोड़ रुपये का वितरण किया गया है। हमने किसानों के क्रेडिट कार्ड लॉन्च किए हैं और इसका विस्तार किया गया है।

किसानों के लिए पीएम सम्मान निधि योजना के तहत, १० करोड़ लाभान्वित हुए हैं और अब तक रु १. १५ लाख करोड़ रुपये का वितरण किया गया है। ”

नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम में बात करते हुए कहा की “भारत को दुनिया के फार्मेसी हब के रूप में जाना जाता है।” हमने दुनिया को वैक्सीन की आपूर्ति की है। भारतीय डॉक्टरों को विश्व स्तर पर प्रशिंसा हासिल हुयी है। कोविड महामारी के दौरान भारत के संघीय संरचना ने संयुक्त रूप से काम किया है।

उन्होंने कहा की एक समय था जब भारत को पोलियो और चेचक के खतरे से त्रस्त था और यह जानने का कोई तरीका नहीं था की भारत को वैक्सीन कब मिलेगी और कितने लोग इसे प्राप्त क्र पाएंगे। राज्यसभा में पीएम ने कहा, “उन दिनों से, हम अब यहां हैं, जब हमारा राष्ट्र दुनिया के लिए टीके बना रहा है। इससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ता है।”

उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा की “ऐसे  कई मुद्दे है जिन पर चर्चा हो सकती है  लेकिन उन मुद्दों में नहीं उलझना चाहिए जो देश को निचा दिखाते है है और उसे ध्वस्त करते हैं।” 

उन्होंने कहा, “भारत केवल दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र नहीं है। भारत लोकतंत्र की जननी है ‘और यह हमारा लोकाचार है। हमारे देश का स्वभाव लोकतांत्रिक है।”

पीएम मोदी ने कहा कि “भारत अवसरों का देश है, कई अवसर हमारा  इंतजार कर रहे हैं, इसलिए एक राष्ट्र जो युवा है, उत्साह से भरा है, एक संकल्प के साथ सपनों को साकार करने के लिए प्रयास कर रहा है, इन अवसरों को कभी भी बस से गुजरने नहीं देगा।” 

पीएम मोदी ने कहा, “हम आजादी के ७५  वें साल का जश्न मना रहे हैं। हमें राष्ट्र के बारे में कुछ करने की प्रतिबद्धता जतानी चाहिए। आज पूरी दुनिया भारत की ओर देख रही है।” उन्होंने यह भी कहा कि सभी की निगाहें भारत पर हैं और विश्वास है कि भारत ग्रह की बेहतरी में योगदान देगा।

agri news

Leave a Reply