महिंद्रा एंड महिंद्रा का सबसे छोटा इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर: Mahindra NOVO Tractor

Published on 13 August, 2019

महिंद्रा एंड महिंद्रा का सबसे छोटा इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर: Mahindra NOVO Tractor

ऑटो निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा एक छोटा इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर ला रही है। इस बात की जानकारी खुद आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करके दी है। उन्होंने ट्वीट किया कि, हम महिंद्रा नोवो ट्रैक्टर ला रहे हैं। यह ट्रेक्टर उससे छोटा है जिसकी आपने कल्पना नहीं की होगी। उनका मानना ​​है कि देश के युवाओं के लिए जो कृषि में योगदान दे रहे हैं, यह एक शानदार उपहार की तरह है।

Mahindra NOVO Tractor पूरी तरह से इलेक्ट्रिक है जिसे रिमोट की मदद से नियंत्रित किया जा सकता है। इस ट्रैक्टर की मदद से खेती करना काफी आसान हो जाएगा। यह 12V इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर है जिसमें 3 (फॉरवर्ड + रिवर्स) गियर ट्रांसमिशन है। इस ट्रैक्टर में स्पीड लॉक फंक्शन को भी शामिल किया गया है। इस ट्रैक्टर की कीमत के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

महिंद्रा एंड महिंद्रा (M & M) इलेक्ट्रिक वाहन खंड में तेजी से विस्तार करने की योजना बना रही है। हाल ही में, कंपनी के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने कंपनी के 73 वें वार्षिक एजीएम में कहा था कि ऑटो उद्योग में एक 'प्रमुख मूलभूत परिवर्तन' हो रहा है और उस परिवर्तन का लाभ उठाने का समय आ गया है। कंपनी आने वाले ढाई साल में 3-4 इलेक्ट्रिक कार लॉन्च करेगी।

Published by: Khetigaadi Team

Sonalika Tractors Overseas Market Increased by 108%

Published on 13 August, 2019

Sonalika Tractors Overseas Market Increased by 108%

International Tractors, which makes the Sonalika and Solis brands of tractors revealed a 108 percent increased volume at 1,861 units in July. “We have recorded a 108 percent development in our July volume by charging 1,861 tractors against 906 units in a similar period a year ago," the Punjab-based farm equipment manufacturer said.

"We have broken our past record and protected top position in overseas market with a triple digit development of 108 percent in July," Deepak Mittal, managing director said, including the aggregate deals in the April-July period remained at 5,155 units. Vital associations with worldwide brands like Yanmar o Japan and Argo of Italy have Supported the organization to grow a lot quicker in the worldwide markets particularly in the European, US and Saarc markets, he said.

Published by: Khetigaadi Team

सोनालिका ट्रैक्टर विदेश बाजार में 108% की वृद्धि

Published on 13 August, 2019

सोनालिका ट्रैक्टर विदेश बाजार में 108% की वृद्धि

ITL, जो ट्रैक्टर के सोनालिका और सोलिस ब्रांड से मिलकर बना हुआ एक ब्रांड है, उन्होंने जुलाई में 1861 यूनिट्स के साथ 108 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की । पंजाब स्थित  इंटरनेशनल ट्रैक्टर्स ने कहा, '' हमने जुलाई 2019 में 1861 ट्रेक्टर यूनिट्स की ब्रिकी की जो जुलाई 2018 के 906 यूनिट्स के मुकाबले 955 ट्रैक्टर्स अधिक है | जिसके कारन जुलाई वॉल्यूम में 108 प्रतिशत विकास दर्ज किया है।"

प्रबंध निदेशक दीपक मित्तल जी  ने कहा, "हमने जुलाई में 108 प्रतिशत के तिहरे अंकों के विकास के साथ विदेशी बाजार में अपने पिछले रिकॉर्ड और संरक्षित शीर्ष स्थान को तोड़ा है,दुनिया भर के ब्रांड जैसे यानमार ओ जापान और इटली के Argo  के साथ महत्वपूर्ण संगठन के कारन  ने ITL  को दुनिया भर के बाजारों में विशेष रूप से यूरोपीय, अमेरिकी और सार्क  बाजारों में बहुत तेजी से बढ़ने का समर्थन मिला  है|

Published by: Khetigaadi Team

ट्रैक्टर उद्योग के विदेशी व्यापार में गिरावट

Published on 8 August, 2019

ट्रैक्टर उद्योग के विदेशी व्यापार में गिरावट

भारत एक कृषिप्रधान देश है | और लगभग 70 प्रतिशत भारत की आबादी कृषि पर निर्भर है | बढ़ते आबादी के साथ भारत अपने जीवनमान में नई तकनिक का भी इस्तमाल कर रहा है | आज भारत का कृषि उद्योग भी तकनीक के साथ आगे बढ़ रहा है | ट्रेक्टर इंडस्ट्री इस कृषि उद्योग की नीव है | भारत देश में कई ट्रेक्टर निर्माता है, जिनका कारोबार भारत के साथ साथ विदेश में भी फैला हुआ है |

विदेश बाजार में ट्रेक्टर के बिक्री के बारे में जानकारी के साथ जून 2018 के ट्रेक्टर बिक्री आकड़ो के मुकाबले जून 2019 के आकड़ो को भी जानना जरुरी है |जून 2019 में कई ट्रेक्टर निर्माता विदेश ट्रेक्टर बिक्री में भारी गिरावट का सामना कर रहे है | और कुबोटा और एस्कॉर्ट्स जैसे ट्रेक्टर निर्माता अपना जून 2018 का टारगेट पार करने में सफल हुए है |

एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर्स कंपनी के घरेलु बाजार ट्रेक्टर बिक्री में भले ही गिरावट है पर विदेश बाजार में ट्रेक्टर बिक्री में एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर्स ने भरी मात्रा में सफलता हासिल की है | एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर्स की विदेश बाजार बिक्री में लगभग 38.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई है | एस्कॉर्ट्स ट्रेक्टर ने जून 2018 में 225 ट्रेक्टर की बिक्री की थी जबकि इस जून 2019 में 312 ट्रैक्टर्स बेचे गए |   एस्कॉर्ट्स के साथ साथ VST और PREET ट्रेक्टर ने भी विदेश बाजार में जून 2019 में अछि सफलता हासिल की है | 

न्यू हॉलैंड ट्रेक्टर ने भी विदेश ट्रेक्टर बिक्री में  जून 2018 के मुकाबले 25 प्रतिशत के गिरावट का सामना किया है | जून 2018 के मुकाबले जून 2019 में न्यू हॉलैंड ने 247 ट्रैक्टर्स कम बेचे थे |  भारत की सबसे बड़ी ट्रेक्टर निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने विदेश बाजार में जून 2019 में सिर्फ 3 प्रतिशत गिरावट  का सामना किया | और जॉन डियर ट्रेक्टर निर्माता कंपनी ने तो जून 2018 के मुकाबले 0.9 प्रतिशत गिरावट का सामना किया |  

सबसे भारी मात्रा में जून 2018 के मुकाबले विदेश बाजार में गिरावट का सामना ITL, TAFE और SDF ने किया है | ITL ने जून 2018 में विदेश बाजार में 2190 ट्रेक्टर बेचे थे,और इस जून 2019 में 33.4 प्रतिशत की गिरावट के साथ सिर्फ 1459 ट्रैक्टर्स बेचे है | जून 2018 के मुकाबले 60.1 प्रतिशत के गिरावट के साथ SDF ट्रैक्टर्स ने विदेश बाजार में जून 2019 में सिर्फ 446 ट्रेक्टर की बिक्री की है | लगभग 50 प्रतिशत की गिरावट के साथ TAFEट्रैक्टर्स का विदेश बाजार जून 2019 में 882 ट्रैक्टर्स पर समाप्त हुआ है |  ट्रेक्टर इंडस्ट्री ने विदेश बाजार में जून 2018 में 8540 ट्रैक्टर्स की बिक्री की थी जो  जून 2019 में 227. 4 प्रतिशत गिरावट के साथ 6205 ट्रेक्टर पर है |

Published by: Khetigaadi Team

Tractor Industry Dips Down in Overseas Market

Published on 8 August, 2019

Tractor Industry Dips Down in Overseas Market

India is an agricultural country. And about 70 percent of India's population is dependent on agriculture. With the increasing population, India is also using new technology in its life. Today, India's agricultural industry is also advancing with technology. The tractor industry is the foundation of this agricultural industry. India has many tractor manufacturers in the country, whose business is spread in India as well as abroad.

With the information about the tractor sales in the foreign market, it is also important to know the data of June 2019 as compared to the tractor sales data of June 2018. In June 2019, many tractor manufacturers are facing a huge decline in foreign tractor sales. And tractor manufacturers like VST and Escorts have succeeded in crossing their June 2018 target.

The domestic market of Escorts Tractors Company may have a decline in tractor sales, but Escorts Tractors has achieved a tremendous amount of success in tractor sales in the foreign market. Foreign market sales of escorts tractors have increased by about 38.7 percent. Escorts tractor sold 225 tractors in June 2018 while 312 tractors were sold in this June 2019. Along with escorts, VST and PREET tractor have also achieved good success in foreign market in June 2019.

New Holland tractor has also suffered a 25 percent decline in foreign tractor sales as of June 2018. In June 2019, New Holland sold 247 tractors less as compared to June 2018. India's largest tractor manufacturer, Mahindra & Mahindra, suffered a 3% drop in the overseas market in June 2019. And John Deere Tractor Producer Company suffered a 0.9 percent decline compared to June 2018.

ITL, TAFE and SDF have suffered the biggest drop in foreign market compared to June 2018. ITL had sold 2190 tractors in the foreign market in June 2018, and only 1459 tractors have been sold, down by 33.4 percent in June 2019. With a fall of 60.1 percent, SDF Tractors sold only 446 tractors in the overseas market in June 2019. The overseas market for TAFE tractors ended nearly 882 tractors in June 2019, with a decline of nearly 50 percent. The tractor industry had sold 8540 tractors in the overseas market in June 2018 which is 227. 4 percent down at 6205 tractors in June 2019.

 

Published by: Khetigaadi Team

1 Comments

मुझे ट्रैक्टर लेना है सेकंड हैंड सेकंड हैंड

एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर का उत्पादन बिक्री से 20 प्रतिशत कम

Published on 6 August, 2019

एस्कॉर्ट्स ट्रैक्टर का उत्पादन बिक्री से 20 प्रतिशत कम

तरलता की कमी और कमजोर ग्रामीण डिमांड के कारन एस्कॉर्ट्स समूह के Q1 लाभ और आय में 27.6 प्रतिशत और 5.7 प्रतिशत की गिरावट हुई है । संगठन का एग्री-इक्विपमेंट सेक्टर, जो पूर्ण आय में 77 प्रतिशत योगदान देता है, जो सबसे अधिक प्रभावित था और इस परिस्थिति ने संगठन के ट्रैक्टर संयंत्रों में एक दिन के उत्पादन के कटौती को भी प्रेरित किया।

भारत मदन, ग्रुप चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर और कॉर्पोरेट हेड, जी  ने कहा कि अगर नवंबर तक हालात नहीं सुधरे तो संगठन कई प्लांट बंद कर सकता है। प्रारंभ में, सामान्य ट्रैक्टर उद्योग की मात्रा में लगभग 15 प्रतिशत की गिरावट आई, जिसने प्राथमिक तिमाही में हमारे मार्जिन को 160-170 बीपीएस से नीचे खींच लिया। इसके अलावा, हमने स्टॉक के मुद्दे पर उपाय के तहत इस तिमाही में उत्पादन में भी कटौती की।

हमने लगभग 21,000 ट्रैक्टर बेचे जबकि उत्पादन संख्या Q1 में 17,000 ट्रैक्टर थी। हमारा उत्पादन ट्रेक्टर बिक्री के मुकाबले इस  तिमाही  में लगभग 20 प्रतिशत  से काम था । इन दो उपायों का समेकित प्रभाव सामान्य मार्जिन संख्या में स्पष्ट है जो इस बार लगभग 330 बीपीएस के आसपास चला गया है। हमने हाल के चार महीनों में अपने स्टॉक संख्या में आम तौर पर कटौती की है। हमारे चैनल का स्टॉक स्तर अब घटकर तीन से साढ़े तीन सप्ताह का हो गया है जो वर्तमान में सबसे कम है। हम त्योहारी सीजन का समर्थन करने के लिए अगस्त और सितंबर के लंबे हिस्सों में कुछ स्टॉक बनाने का इरादा कर रहे हैं , ऐसा भारत मदान जी ने कहा।

Published by: Khetigaadi Team

1 Comments

laxman.sen. SHlRAM

Escorts Tractor Production 20 Percent Less Than the Sales.

Published on 6 August, 2019

Escorts Tractor Production 20 Percent Less Than the Sales.

Tormented by delayed liquidity crunch and weak rural interest Escorts Group's Q1 benefit and income declined by 27.6 percent and 5.7 percent separately. Organization's Agri-Equipment which contributes 77 percent to the absolute income was the most hit and circumstance also prompted one-day production cut at organization's tractor plants.

Bharat Madan, Group Chief Financial Officer and Corporate Head said that if the circumstance doesn't improve by November the organization may more plant shut downs. Initially, the general tractor industry volumes declined by right around 15 percent that pulled our margins down by 160-170 bps in the primary quarter. Furthermore, we embraced significant generation cut this quarter to redress the stock issue.

We sold around 21,000 tractors while the generation number was 17,000 tractors in Q1. Along these lines, our generation this quarter was approximately 20 percent less than exactly the business which occurred. The consolidated impact of these two measures are obvious in the general margin number which likely gone somewhere around 330 bps this time. we have cut our stock numbers radically over the most recent four months. Our channel stock level has now diminished to three to three and a half weeks stock which is one of the most reduced at present. We are intending to construct some stock in the long stretches of August and September to support festive season Bharat Madan, Escorts Group CFO

Published by: Khetigaadi Team

Uncertainty in Government Subsidies Drag Down Tractor Sales in Q1 Of FY’20

Published on 3 August, 2019

Uncertainty in Government Subsidies Drag Down Tractor Sales in Q1 Of FY’20

Subsequent to moving forward with boost by government subsidies and monsoon onset for just about three years, Indian tractor market slammed by 14.3 percent to 191,305 units in the primary quarter of financial year 2019-2020, according to the information uncovered by Tractors Manufacturers Association (TMA). The business saw a sound 20 percent development during Q1 of FY 2018-2019. A sharp 13.6 percent year-on-year deals drop to 75,859 units in June 2019 stamped fifth continuous month of decrease in tractor deals. The prime components hitting the hinterland are troublesome monsoon and uncertainty in government schemes. This year, the India Meteorological Department (IMD) announced a 17 percent inadequacy in precipitation with June alone account 33 percent shortfall in rain.

Market pioneer Mahindra and Mahindra (M&M), which possesses more than 40 percent of generally tractor market of the overall industry, detailed a 15 percent decrease at 82,913 units in the last quarter. Tafe Group and Sonalika both revealed the steepest decrease of 17.4 percent at 34,983 units and 20,954 units individually during the quarter under audit. The circumstance intensified when the market made by subsides from the state governments, began spilling. Majority of the states which guaranteed to proceed with the subsides schemes are reeling under intense money related crunch, and subsequently neglected to make the repayments to the sellers, said TR Kesavan, President, TMA.

"Government sponsorship is really hindering the future in numerous regions. The majority of the sellers are sitting with a half year to one year of exceptional which needs to originate from the administration, and this actually smashed the market especially in the conditions of Tamil Nadu, Andhra Pradesh, Telangana, and Assam," Kesavan told .He also said that last year near 90,000 - 100,000 tractors went under sponsorship programs. Also, clients are facing a hard hit from the banks too. Indeed, even at the season of languid deals, no relief is originating from banks as they neglect to loosen the high financing costs, said Rahul Lunawat, one of the sellers of Mahindra Swaraj Tractors in Nasik region, Maharashtra.

"Banks keep on bringing 14-14.5 percent financing costs from the farmers on tractor loans though if there should be an occurrence of bike and vehicles it is near 9 percent. This combined with lacking rain and sporadic subsides declarations have seriously affected our business since everyone is waiting for subsidy and making no buy. At this crossroads, the circumstance is grave to the point that we are not in any case equipped for paying our month to month costs," Lunawat said. As there is a reluctance to purchase, organizations like M&M and Escorts declared cutting production as a major aspect of stock measure. Despite of such efforts, tractor sellers the nation over are detailing inventory level of up to 45 days. Industry accepts that for tractors a typical sound stock is of 30 days. "Regardless we have trusts on August and accept that tractor industry will ricochet back in Q2 distribution of precipitation should spread equally over all the agro-climatic zones," Kesavan included.

 

 

Published by: Khetigaadi Team

जुलाई 2019 में महिंद्रा एंड महिंद्रा ट्रैक्टर की बिक्री में 11% गिरावट

Published on 2 August, 2019

जुलाई 2019 में महिंद्रा एंड महिंद्रा ट्रैक्टर की बिक्री में 11% गिरावट

जुलाई 2019 में महिंद्रा एंड महिंद्रा के साल-दर-साल के ट्रैक्टर बिक्री में जुलाई 2018 के ट्रैक्टर बिक्री के मुकाबले 11प्रतिशत की गिरावट आई है| महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड फार्म इक्विपमेंट सेक्टर (FES), USD 20.7 बिलियन महिंद्रा ग्रुप का एक हिस्सा, उन्होंने जुलाई 2019 के लिए अपने ट्रैक्टर बिक्री के आकड़े पेश किए है |

जुलाई 2019 में घरेलू बिक्री 19,174 यूनिट्स पर है,जबकि जुलाई 2018 के दौरान 21,574 यूनिट्स पर थी । जुलाई 2019 के दौरान सभी ट्रैक्टर सौदे (घरेलू + निर्यात) 19,992 यूनिट्स  पर है , जबकि एक साल पहले समान अवधि के लिए 22,679 यूनिट्स  थे। जुलाई 2019 महीने के लिए विदेशी बाजार 818 यूनिट्स  पर रहा है ऐसा संगठन का कहना है ।

प्रस्तुति पर टिप्पणी करते हुए, राजेश जेजुरिकर, अध्यक्ष - कृषि उपकरण क्षेत्र, महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड जी ने कहा, "हमने जुलाई 2019 के दौरान घरेलू बाजार में 19,174 ट्रैक्टर बेचे हैं। हमें भरोसा है कि कृषि के माध्यम से ग्रामीण विकास के लिए  सरकारी गतिविधियों का प्रसार और गैर-कृषि स्रोतों और तरलता में सामान्य सुधार से वर्ष के दूसरे छमाही के दौरान ट्रैक्टर के अनुरोध में सुधार होगा। ओवरसीज मार्केट में, हमने 818 ट्रैक्टर बेचे हैं। " संगठन के ट्रैक्टर निर्यात में भी गिरावट आई, जो 26 प्रतिशत तक की  है ।

Published by: Khetigaadi Team

1 Comments

sir,ji mahindra265DI,Yuvo,Praise,kyaa,hai,kaise,hai

Mahindra and Mahindra Tractor Sale Decreased by 11% for July 2019

Published on 2 August, 2019

Mahindra and Mahindra Tractor Sale Decreased by 11% for July 2019

Mahindra and Mahindra's year-on-year tractor deals in July 2019 are declined by 11% as compared with tractor deals in July 2018. Mahindra and Mahindra Ltd's. Farm Equipment Sector (FES), a piece of the USD 20.7 billion Mahindra Group, reported its tractor deals numbers for July 2019.

Domestic deals in July 2019 were at 19,174 units, as against 21,574 units during July 2018. All tractor deals (Domestic+ Exports) during July 2019 were at 19,992 units, as against 22,679 units for a similar period a year ago. Overseas market for the month remained at 818 units," the organization referenced.

Remarking on the presentation, Rajesh Jejurikar, President - Farm Equipment Sector, Mahindra and Mahindra Ltd. stated, "We have sold 19,174 tractors in the Domestic market during July 2019. We trust that the spread of storm, government activities to rural development through agricultural and non-agricultural sources and a general improvement in liquidity will goad improvement in tractor request during the second half of the year. In the Overseas Market, we have sold 818 tractors." There was also fall in tractor export of the organization, which fell by 26% year-on-year in July 2019.

Published by: Khetigaadi Team

1 Comments

Kyon ji kitne ka hai nikal sakta hai kis dwara







Get Tractor Price

*
*

Home

Price

Tractors in india

Tractors

Compare

Review