देर से होने वाली वर्षा के कारन महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में खरीफ की फसल का नुकसान

Published on Oct 22, 2020

देर से होने वाली वर्षा के  कारन  महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में खरीफ की फसल का नुकसान

देर से होने वाली वर्षा, मानसून केपीछे हटने के कारण, महाराष्ट्रऔर आंध्र प्रदेश-तेलंगाना के आस-पास केक्षेत्रों में फसलतैयार खरीफ की फसल कोनुकसान पहुंचा है, जिससे प्याज, दाल, सोयाबीन, और पहलेसे ही उच्च कीमतों परदबाव बढ़ गया है।इनके अलावा कपास, टमाटर, सब्जियां, केला, अंगूर की फसल को भीनुकसान हुआ है।हालांकिराज्यों को वास्तविकनुकसान का आकलन करने केलिए फील्ड सर्वेक्षणकरना बाकी है, लेकिन उनका कहनाहै कि महाराष्ट्रमें सबसे ज्यादानुकसान सोयाबीन कीफसल का होगा, उसके बाद धान और कपासका। सितंबर कीबारिश ने महाराष्ट्रमें सोयाबीन औरकपास की फसलोंको 7 लाख हेक्टेयरसे ज्यादा प्रभावितकिया है। मंत्रालयने कहा है कि वहअधिक बारिश सेप्रभावित किसानों को मुआवजा देगा।

To Download Khetigaadi Mobile Application Click Here

महाराष्ट्र के शेतकरी संगठन के अध्यक्ष अनिल घनवट ने कहा, प्याज कीनर्सरी खराब हो गई है क्योंकि प्याज कीकीमतें बहुत अधिकहैं। सोयाबीन, कपास, खरीफ, ज्वार औरबाजरा जैसी फसलोंको भी नुकसानहुआ है। जलगांवजिले के किसानों को नुकसान हुआहै। मांग की कि उन्हेंज्वार में हुए नुकसान कीभरपाई की जाए। पिछले कुछहफ्तों से प्याज, दाल और सोयाबीनके दामों मेंतेजी का रुख है। चूंकिनई प्याज कीफसल अभी दो महीने दूरहै, इसलिए थोकप्याज की कीमतें, जो महाराष्ट्र मेंलगभग 40 रुपये किलोहै, ऊपर जानेकी संभावना है।

 

ट्रैक्टर और कृषि उपकरण के बारे में अधिक जानकारी  के लिए डाउनलोड करें खेतिगाडी मोबाइल एप्लिकेशन - -https://khetigaadi.com/khetigaadi-mobile-app/en

 

सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (SOPA) ने कहा हैकि उद्योग केलिए कच्चे मालकी खरीद और बढ़ती कीमतोंके कारण तैयारमाल बेचना मुश्किलहो गया है।इसबीच, केंद्र नेहाल ही में दालों कीकीमतों को कम करने केलिए नेफेड द्वाराआयोजित अपने दालस्टॉक को बंद करना शुरूकर दिया है।आंध्रप्रदेश में, जहांतटीय जिले अधिकप्रभावित हुए हैं, वहां नुकसान कोरोक दिया गयाहै क्योंकि किसानरबी फसलों कीतैयारी कर रहे हैं। चिरंजीवचौधरी, आयुक्त (बागवानी), चिरंजीव चौधरी नेकहा, प्रारंभिक अनुमानोंके अनुसार, हालियावर्षा के कारण हुए नुकसानज्यादातर पूर्वी गोदावरीऔर विशाखापत्तनम जिलोंमें हैं और सब्जी फसलोंऔर केले तक सीमित हैं।बंगालकी खाड़ी मेंकम दबाव वालेक्षेत्रों के गठनने मॉनसून कीवापसी की प्रक्रियाको रोक दिया, जिससे दक्षिणी प्रायद्वीपमें बारिश केनए बादल आ गए। भारतमौसम विभाग नेइस सप्ताह अधिकवर्षा होने का अनुमान लगायाहै।

 

अगर आप ट्रैक्टर, कृषि उपकरण , पौध संरक्षण उपकरण, कृषि समाचार, ट्रैक्टर उद्योग समाचार, सरकारी योजनाएं, टायर क्षेत्र, आदि के बारे में संपूर्ण जानकारी चाहते है तो तुंरत डाउनलोड करे  खेतिगाडी मोबाइल एप्लिकेशन। KhetiGaadi.com दुनिया का पहला और एकमात्र  प्लेटफार्म है जो  कृषि यंत्रीकरण ,उपकरण के साथ ट्रैक्टर खरीदने, बेचने और रेंट पर ट्रेक्टर लेने  लिए  के लिए किसानों की सहायता करता है |

Ad
ad

Published by
Khetigaadi Team

Similar News

Quick Links

Ad
ad
Get Tractor Price
×
KhetiGaadi Web App
KhetiGaadi Web App

0 MB Storage, 2x faster experience